Peon Post Syllabus Exam Preparation || भृत्य पोस्ट पाठ्यक्रम और परीक्षा की तैयारी

peon post syllabus exam preparation

Office PeonGovernment Office PeonSchool Peon
College PeonHospital PeonBank Peon
Court PeonDistrict Court PeonHigh Court Peon
Municipal Corporation PeonState Secretariat PeonChamber Peon (Lawyers’ Offices)
Private Company PeonResearch Institute PeonLibrary Peon
University PeonPolice Station PeonPost Office Peon
Civil Services PeonMinisterial PeonLegislative Assembly Peon
Municipal Council PeonAgriculture Department PeonHealth Department Peon
Forest Department Peon

Peon Post Syllabus Exam Preparation || भृत्य पोस्ट पाठ्यक्रम और परीक्षा की तैयारी

Peon Post Syllabus Exam Preparation || भृत्य पोस्ट पाठ्यक्रम और परीक्षा की तैयारी

छत्तीसगढ़ मंत्रालय भृत्य पद की तैयारी कैसे करे?

परीक्षा दो चरणों में होगी :- chhattisgarh public service commission
प्रथम चरण वस्तुनिष्ठ परीक्षा :- exam pattern cgpsc peon
द्वितीय चरण शुद्ध लेखन। परीक्षा:- 200 अंक (2)
प्रश्न पत्र :- Cg Peon Exam Date 2022-23
भाग 1 – छत्तीसगढ़ एवं भारत का सामान्य ज्ञान, सामान्य अंग्रेजी, सामान्य हिन्दी, सामान्य गणित, छत्तीसगढ़ी भाषा (समय 02 घण्टा ) 150 प्रश्न ( 150 अंक)
भाग 2 – शुद्ध लेखन ( ईमला) (50 अंक) प्रथम चरण भाग-1 वस्तुनिष्ट प्रकार के होंगे, जिसमें छत्तीसगढ़ के सामान्य ज्ञान से संबंधित प्रश्न पूछे जायेंगे।
प्रथम चरण परीक्षा में सम्मिलित अभ्यर्थियों में से मेरिट के आधार पर 05 गुणा अभ्यर्थियों को द्वितीय चरण परीक्षा शुद्ध लेखन हेतु अर्ह माना जायेगा।
द्वितीय चरण भाग – 2 शुद्ध लेखन ( ईमला) की परीक्षा हिन्दी में ली जावेगी।

टीप:- दोनों चरणों के परीक्षा के प्राप्त अंकों को जोड़कर चयन सूची तैयार की जाएगी।

अभ्यर्थियों की 100 प्रतिशत प्रतिक्षा सूची तैयार की जाएगी।

प्रथम चरण भाग-1 परीक्षा के प्रश्न पत्र वस्तुनिष्ठ (बहु विकल्प प्रश्न) प्रकार के होंगे, प्रत्येक प्रश्न के लिये चार संभाव्य उत्तर होंगे जिन्हें अ, ब. स और द में समूहीकृत किया जाएगा जिनमें से केवल एक उत्तर सही / निकटतम सही होगा, उम्मीदवार को उत्तर पुस्तिका में उसके द्वारा निर्णित सही / निकटतम सही माने गये अ, ब, स या द में से केवल एक विकल्प का चयन करना होगा।
प्रथम चरण भाग – 1 प्रश्न पत्र में ऋणात्मक मूल्यांकन का प्रावधान होगा। प्रत्येक गलत उत्तर के लिए सही उत्तर हेतु निर्धारित अंक का 1 / 3 अंक काटे जायेंगे।

ऋणात्मक मूल्यांकन हेतु निम्न सूत्र का प्रयोग किया जाएगा:– MO = Mx R – 3 Mx W जहां MO = अभ्यर्थी के प्राप्तांक, M = एक सही उत्तर के लिए निर्धारित प्राप्तांक अथवा प्रश्न विलोपित किए जाने की स्थिति में पुनः निर्धारित प्राप्ताक, R= अभ्यर्थी द्वारा दिए गए सही उत्तरों की संख्या तथा W = अभ्यर्थी द्वारा दिए गए गलत उत्तरों की संख्या है।

उक्त सूत्र का प्रयोग कर प्राप्तांको की गणना दशमलव के चार अंकों तक की जाएगी।
उदाहरण :- cg vyapam peon ka syllabus
M= एक प्रश्न हेतु निर्धारित अंक = 1 यदि
R = 100
W= 50
MO = ? MO = 1 X 100 – 3 X 1 X 50 00-x1x50 50 300-50 250 3 – 100 = 83.33
cgpsc peon recruitment 2022 syllabus pdf
लिखित / कौशल / अनुवीक्षण परीक्षा में अनारक्षित तथा अनारक्षित उपवर्ग के अभ्यर्थियों हेतु प्रत्येक चरण में पृथक-पृथक न्यूनतम 33 प्रतिशत अंक अर्जित करना अनिवार्य होगा। आरक्षित वर्ग एवं आरक्षित उपवर्ग के अभ्यर्थियों हेतु प्रत्येक चरण में पृथक-पृथक न्यूनतम 23 प्रतिशत अंक अर्जित करना अनिवार्य होगा अन्यथा उसे अनर्ह घोषित किया जाएगा।
द्वितीय चरण भाग-2 शुद्ध लेखन 200 शब्द ( ईमला) के अंतर्गत अभ्यर्थी को ईमला लिखना होगा। प्रत्येक अशुद्ध शब्द पर 0.4 अंक काटा जायेगा। कांट-छांट या ओवर राइटिंग पर भी 0.4 अंक काटा जायेगा। ईमला लिखने के दौरान यदि कोई शब्द अभ्यर्थी द्वारा छोड़ दिया जाता है तो उसमें भी 0.4 अंक प्रति शब्द काटा जाएगा।
दृष्टि बाधित को परीक्षा हेतु सहलेखक की सुविधा दी जावेगी। सहलेखक की अधिकतम शैक्षणिक अर्हता आठवी कक्षा तक की परीक्षा उत्तीर्ण होना चाहिए। आठवी कक्षा से अधिक योग्यता रखने वाले सहलेखक अमान्य होगा। यदि जांच में पाया जाता है कि सहलेखक उच्चतम योग्यता वाला है तो अभ्यर्थी की अभ्यर्थिता / चयन / नियुक्ति आयोग / विभाग द्वारा निरस्त किया जा सकेगा। निम्न दृष्टि बाधित 40 या 40 प्रतिशत से अधिक निःशक्त अभ्यर्थी को सह लेखक की सुविधा दी जावेगी।
(चयन प्रक्रिया आयोग के प्रक्रिया नियम- 2014 के अनुसार प्रावधानित होगी।

चपरासी पद की परीक्षा के लिए संभावित पाठ्यक्रम:

Potential Syllabus for a Peon Position Exam:

भाषा कौशल: Language Skills:
बुनियादी व्याकरण और शब्दावली. Basic grammar and vocabulary.
समझबूझ कर पढ़ना। Reading comprehension.
पत्र लेखन एवं संचार. Letter writing and communication.
संख्यात्मक योग्यता: Numerical Aptitude:
मूल अंकगणित: जोड़, घटाव, गुणा, भाग। Basic arithmetic: addition, subtraction, multiplication, division.
भिन्न, प्रतिशत, अनुपात और अनुपात। Fractions, percentages, ratios, and proportions.
बुनियादी गणितीय समस्या-समाधान। Basic mathematical problem-solving.
सामान्य ज्ञान: General Knowledge:
समसामयिक मामले (राष्ट्रीय, अंतर्राष्ट्रीय और क्षेत्रीय)। Current affairs (national, international, and regional).
इतिहास, भूगोल और संस्कृति का बुनियादी ज्ञान। Basic knowledge of history, geography, and culture.
महत्वपूर्ण घटनाएँ एवं घटनाक्रम. Important events and developments.
स्थानीय भाषा प्रवीणता: Local Language Proficiency:
क्षेत्र (इस मामले में छत्तीसगढ़) में बोली जाने वाली स्थानीय भाषा का ज्ञान। Knowledge of the local language spoken in the region (Chhattisgarh, in this case).
बुनियादी पढ़ने, लिखने और बोलने का कौशल। Basic reading, writing, and speaking skills.
बुनियादी कंप्यूटर ज्ञान: Basic Computer Knowledge:
कंप्यूटर का परिचय एवं उसका उपयोग. Introduction to computers and their uses.
बुनियादी संचालन जैसे ईमेल का उपयोग करना, इंटरनेट ब्राउजिंग आदि। Basic operations like using email, internet browsing, etc.
सामयिकी: Current Affairs:
विभिन्न क्षेत्रों में हाल की घटनाएं, विकास और अपडेट। Recent events, developments, and updates in various fields.
सामान्य जागरूकता: General Awareness:
सरकारी कार्यक्रमों, योजनाओं और नीतियों के बारे में बुनियादी जागरूकता। Basic awareness of government programs, schemes, and policies.
सामाजिक और पर्यावरणीय मुद्दे. Social and environmental issues.
तर्क और विश्लेषणात्मक क्षमता: Reasoning and Analytical Ability:
बुनियादी तार्किक तर्क. Basic logical reasoning.
पैटर्न पहचान और पहेलियाँ सुलझाना। Pattern recognition and solving puzzles.
बुनियादी कार्यालय प्रक्रियाएँ और शिष्टाचार: Basic Office Procedures and Etiquette:
बुनियादी कार्यालय प्रथाओं की समझ. Understanding of basic office practices.
संचार शिष्टाचार और व्यावसायिकता. Communication etiquette and professionalism.
संख्यात्मक क्षमता: Numerical Ability:
सरल गणना. Simple calculations.
बुनियादी डेटा व्याख्या. Basic data interpretation.

छत्तीसगढ़ मंत्रालय भृत्य पद की तैयारी कैसे करे?

नौकरी विवरण और आवश्यकताओं की समीक्षा करें:
नौकरी विवरण और आवश्यकताओं की समीक्षा करें: चपरासी पद की जिम्मेदारियों और कर्तव्यों को समझें। इसमें स्वच्छता बनाए रखना, कामकाज चलाना, प्रशासनिक कार्यों में सहायता करना और मंत्रालय के कर्मचारियों को सहायता प्रदान करना जैसे कार्य शामिल हो सकते हैं।
बुनियादी कौशल और योग्यताएँ:
आमतौर पर, चपरासी पद के लिए न्यूनतम औपचारिक शिक्षा की आवश्यकता होती है। हालाँकि, बुनियादी साक्षरता और संख्यात्मक कौशल होना महत्वपूर्ण है। आपके पास अच्छे संचार कौशल भी होने चाहिए, क्योंकि आप मंत्रालय के भीतर विभिन्न लोगों के साथ बातचीत करेंगे।
शारीरिक स्वास्थ्य:
चपरासी होने के नाते अक्सर फ़ाइलें, पैकेज ले जाना और सफाई कार्य करना जैसे शारीरिक कार्य शामिल होते हैं। इन कार्यों को प्रभावी ढंग से करने के लिए शारीरिक फिटनेस का उचित स्तर बनाए रखें।
स्थानीय भाषा का ज्ञान:
छत्तीसगढ़ में स्थान के आधार पर, आपको सहकर्मियों और पर्यवेक्षकों के साथ प्रभावी ढंग से संवाद करने के लिए स्थानीय भाषा का कार्यसाधक ज्ञान होना आवश्यक हो सकता है।
कार्यालय प्रक्रियाओं से परिचित होना:
हालाँकि आप नौकरी पर प्रशिक्षण प्राप्त कर सकते हैं, लेकिन कार्यालय प्रक्रियाओं की बुनियादी समझ, जैसे दस्तावेज़ों को कैसे संभालना है, कार्यालय उपकरण का उपयोग करना और निर्देशों का पालन करना फायदेमंद हो सकता है।
पेशेवर उपस्थिति और व्यवहार:
भले ही यह एक प्रवेश स्तर की स्थिति है, आवेदन प्रक्रिया के दौरान और अपने आचरण में खुद को पेशेवर रूप से प्रस्तुत करना महत्वपूर्ण है। इसमें साक्षात्कार के लिए उचित पोशाक पहनना और सकारात्मक दृष्टिकोण प्रदर्शित करना शामिल है।
साक्षात्कार के लिए तैयारी करें:
यदि कोई साक्षात्कार प्रक्रिया है, तो सामान्य साक्षात्कार प्रश्नों की समीक्षा करके और अपनी प्रतिक्रियाओं का अभ्यास करके इसकी तैयारी करें। काम करने की अपनी इच्छा, अपनी अनुकूलन क्षमता और भूमिका के बारे में अपनी समझ को उजागर करने पर ध्यान दें।
प्रासंगिक अनुभव को हाइलाइट करें:
यदि आपके पास समान भूमिकाओं में कोई पिछला अनुभव है, जैसे कि कार्यालय सहायक, रिसेप्शनिस्ट, या कोई भी पद जिसके लिए बुनियादी प्रशासनिक कार्यों की आवश्यकता होती है, तो अपने बायोडाटा में और साक्षात्कार के दौरान इसे उजागर करना सुनिश्चित करें।
संदर्भ:
पिछले नियोक्ताओं या शिक्षकों से संदर्भ इकट्ठा करें जो आपकी विश्वसनीयता, समय की पाबंदी और कार्य नैतिकता की पुष्टि कर सकते हैं।
मंत्रालय पर शोध करें:
मंत्रालय के लक्ष्यों, गतिविधियों और इससे संबंधित किसी भी हालिया समाचार से खुद को परिचित करें। यह इंटरव्यू के दौरान आपकी रुचि और तैयारी को प्रदर्शित करेगा.
सीखने के लिए तैयार रहें:
हालांकि एक चपरासी की भूमिका सीधी लग सकती है, मंत्रालय के भीतर विशिष्ट प्रक्रियाएं और प्रोटोकॉल हो सकते हैं जिन्हें आपको सीखना होगा। जल्दी से सीखने की अपनी इच्छा और क्षमता दिखाएं।
सकारात्मक दृष्टिकोण:
मंत्रालय सहित किसी भी कार्यस्थल में सकारात्मक और सहयोगात्मक रवैया महत्वपूर्ण है। दिखाएँ कि आप दूसरों के साथ अच्छा काम कर सकते हैं और कार्य वातावरण में सकारात्मक योगदान दे सकते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *